दिनदिहाड़े घर में घुसकर वरिष्ठ पत्रकार केजे सिंह और उनकी मां का कत्ल कर दिया गया।

0
514

ऑय 1 न्यूज़ ब्यूरो रिपोट  दिनदिहाड़े घर में घुसकर वरिष्ठ पत्रकार केजे सिंह और उनकी मां का कत्ल कर दिया गया। जांच में एक बात सामने आई है कहीं कत्ल की वजह यही तो नहीं।

पार्क में हुल्लड़ करते थे लड़के, लगवाई थी पीसीआर

पुलिस पूछताछ में पार्षद कुलजीत सिंह बेदी ने कहा कि केजे सिंह उनके मित्रों में से एक थे। कुछ समय पहले उन्होंने कहा था कि उनके घर के बिलकुल साथ में एक पार्क लगता है। जहां पर अक्सर लड़के हुड़दंग मचाते हैं। ऐसे में उन्हें परेशानी होती है। जिसके बाद उन्होंने पीसीआर को वहां पर गश्त करने के लिए कहा था। पीसीआर गश्त भी करने लगी थी। ऐसे में कहीं रंजिशन तो ये हत्याकांड अंजाम नहीं दिया गया।
यह एक विज्ञापन हैं , अगली स्लाइड देखने के लिए क्लिक करें

पुलिस को वारदात में किसी भेदी का हाथ होने का शक

पुलिस के मुताबिक अभी तक जांच में सामने आ रहा है कि वरिष्ठ पत्रकार केजे सिंह और उनकी मां की हत्या के पीछे किसी भेदी का हाथ है। केजे सिंह का घर फेज-3बी2 की मार्केट के ठीक पीछे जैम स्कूल के पास कोने वाला था, लेकिन अनजान लोगों के लिए केजे सिंह दरवाजा नहीं खोलते थे। घर का एक पर्दा मुड़ा हुआ था तो उन्होंने पहले देखा होगा कि कौन है, फिर दरवाजा खोला। ऐसे में हत्यारा कोई जानकार ही है।

 

कहीं कॉन्ट्रैक्ट किलिंग से तो नहीं जुड़े हत्या के तार

सीनियर पत्रकार केजे सिंह और उनकी मां की हुई हत्या को लेकर पुलिस कई बिंदुओं पर काम कर रही है। हालांकि पुलिस को यह संदेह भी है कि यह कॉन्ट्रैक्ट किलिंग भी हो सकती है। क्योंकि जिस तरीके से वारदात हुई, वह इस बात की तरफ संकेत दे रही है। वहीं, पुलिस भी मानकर चल रही है कि हत्या में एक से ज्यादा लोग शामिल हो सकते हैं।

चौदह निशान व फोन का कॉल रिकॉर्डर खोलेगा राज

केजे सिंह की हत्या से जल्दी ही पर्दा उठने की उम्मीद है। पुलिस को केजे सिंह के फोन पर लगा कॉल रिकॉर्डर मिला है। जिसे पुलिस ने जांच के लिए फारेंसिक लैब भेज दिया है। इसके अलावा मोबाइल भी जांच के लिए भेजा गया है। वहीं, पुलिस को चौदह जगह खून के निशान मिले हैं। जिसके पुलिस की विभिन्न टीमों ने सैंपल लिए हैं। उम्मीद है कि जल्दी ही केस की परतें खुल जाएंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here