पंजाब स्कुल एजुकेशन बोर्ड का 10 वीं और 12 वीं कक्षाओं का रिजल्ट काफी निराशाजनक रहा था ।

0
715
to day news in hindi chandigarh

ऑय 1 न्यूज़ ब्यूरो रिपोट पंजाब स्कुल एजुकेशन बोर्ड का 10 वीं और 12 वीं कक्षाओं का रिजल्ट काफी निराशाजनक रहा था । पंजाब के मुख्यमंत्री कॅप्टन अमरेंद्र सिंह ने खुद ख़राब रिजल्ट के जिमेम्वर अध्यापको की जवाब देहि तय करने के आदेश दिए थे । शिक्षा विभाग की तरफ से अब सर्व शिक्षा अभियान के अंतर्गत स्कूलो में लगे ख़राब रिजल्ट वाले अध्यापको को जहाँ शोकॉज नोटिस जारी कर जवाब माँगा है वहीं 20 प्रतिशत से कम रिजल्ट देने वाले सरकारी अध्यापको को माइप पैन्लटी चार्जशीट देने की तैयारी की जा रही है । सरकारी अध्यापको को लिखित में नोटिस भेजकर अपना पक्ष रखने का मौका दिया जायेगा , संतोष जनक जवाब न मिलने पर कार्यवाही भी की जाएगी । डीपीआई ( सेकेंडरी ) पंजाब परमजीत सिंह ने बताया की ख़राब रिजल्ट वाले शिक्षकों की जवाब देहि व् कार्यवाही की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है ताकि आने वाले समय में रिजल्ट ख़राब न हो । वहीं अच्छा रिजल्ट देने वाले शिक्षकों को शिक्षा विभाग सम्मानित करने की भी तैयारी कर रहा है ।to day news in chandigarhअभी तक सरकारी स्कूलों में मोटी तन्खवाह पाने के बाद भी बच्चों को सही तरीके से नहीं पढ़ाने वाले शिक्षकों से कोई पूछने वाला नहीं था । मगर अब लापरवाही के चलते बच्चो का भविष्य ख़राब करने वाले टीचरो के लिए मुश्किलें खड़ी हो सकती है । दरसल पंजाब में ख़राब रिजल्ट को लेकर जिमेम्वर तय की जा रही है । ख़राब रिजल्ट देने वाले कॉन्ट्रेक्ट और सरकारी अध्यापको दोनों के खिलाफ शिक्षा विभाग ने कड़ा रुख अपना लिया है । 10 और 12 वीं की परीक्षा में जिन अध्यापको का रिजल्ट 20 प्रतिशत से भी कम रहा है उनको विभाग माइनर पैनल्टी चार्जशीट देने की तैयार कर रहा है । इन अध्यापको को लिखित में नोटिस भेजे गए है और उनको पक्ष रखने का मौका भी विभाग की तरफ से दिया जायेगा । डीपीआई परमजीत सिह के अनुसार जिन शिक्षकों की लापरवाही पाई जाती है उनपर कार्यवाही की जाएगी ।

बाइट – परमजीत सिंह , डीपीआई ( सेकेंडरी ) पंजाब

वहीं दूसरी तरफ कॉन्ट्रेक्ट पर भर्ती शिक्षकों को शोकॉज नोटिस जारी कर जवाब माँगा गया है। जवाब संतोष जनक न मिलने पर उनका कॉन्ट्रेक्ट रद्द कर दिया जायेगा । कॉन्ट्रेक्ट पर काम करने वाले करीब 200 के करीब टीचर्स को नोटिस भेजा गया है । उन्होंने कहा की सर्व शिक्षा विभाग के अध्यापको के खिलाफ डीजीएसई की तरफ से की जा रही वहीँ सरकारी स्कूलो की के अधयापको को उनकी तरफ से लिखित में नोटिस भेजे जा रहे है जिसपर उनका पक्ष सुना जायेगा ।

बाइट – परमजीत सिंह , डीपीआई