जिला बाल संरक्षण एवं एकीकृत बाल संरक्षण समिति की बैठक आज उपायुक्त एवं अध्यक्ष जिला बाल संरक्षण समिति रोहन चंद ठाकुर की अध्यक्षता में सम्पन हुई।

0
483
ऑय 1 न्यूज़ ब्यूरो रिपोट शिमला, 14 जुलाई बाल-बालिका आश्रमांे में और अधिक सुविधाएं उपलब्ध करे- उपायुक्त   जिला बाल संरक्षण एवं एकीकृत बाल संरक्षण समिति की बैठक आज उपायुक्त एवं अध्यक्ष जिला बाल संरक्षण समिति  रोहन चंद ठाकुर की अध्यक्षता में सम्पन हुई। जिला के 9 बाल-बालिका आश्रमों में मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रहीे है।  ठाकुर ने मसली बाल आश्रम में मुरम्मत व अन्य कार्यों के लिए  18 लाख 97 हजार 811 रूपये की राशि का अनुमोदन भी बैठक में किया। जिला विकास संरक्षण इकाई द्वारा सभी बच्चों की व्यक्तिगत देखभाल योजना को तुरन्त तैयार करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने बताया कि इसके तहत 114 बच्चों की देखभाल योजना तैयार कर दी गई है। उन्होंने बताया कि बाल-बालिका सुरक्षा योजना के अन्तर्गत पालना दंपति चयन के तहत 28 बच्चों को देखभाल के लिए पालना दंपति को सौपा गया है। इन दंपतियों को 2300 रूपये प्रतिमाह बच्चों के स्वास्थय, शिक्षा व पोषण के लिए देने का प्रावधान है। उपायुक्त ने प्रतित्यकत बच्चे व दूसरे राज्य से संबंध रखने वाले बच्चों की सूची व पूर्ण व्योरा जल्द जिला प्रशासन को उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए ताकि संबंधित राज्य से संर्पक कर इन बच्चों को उनके परिवारों तक पहुंचाने का प्रयास किया जा सके।
      जिला बाल कल्याण आश्रम समिति को मुख्यमंत्री बाल उद्धार योजना के तहत बाल आश्रमों के सुदृणीकरण पर विशेष बल देने के निर्देश दिए। उपायुक्त ने विभाग द्वारा देखभाल पूर्व सेवाओं के अन्तर्गत 19 बच्चों को व्यवसायक प्रशिक्षण जिसमें आई टी आई, होटल मनेजमैंट, सिवल एविएशन में प्रशिक्षण के लिए किए गए प्रयासों की सराहना की।
     बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त श्री राकेश कुमार प्रजापति सयुक्त आयुक्त नगर निगम शिमला श्री प्रशांत सरकैक तथा विभिन्न विभागों के अधिकारी व कर्मचरी तथा बाल-बालिका आश्रम के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here