पंजाब के मुख्यमंत्री द्वारा मोसूल में आईएसआईएस द्वारा बंदी बनाये गये भारतीयों संबंधी सुष्मा स्वराज से बातचीत

0
552
to day news in hindi chandigarh
चंडीगढ़, 10 जुलाई पंजाब के मुख्यमंत्री द्वारा मोसूल में आईएसआईएस द्वारा बंदी बनाये गये भारतीयों संबंधी सुष्मा स्वराज से बातचीत भारतीयों की वापसी के संबध में उठाये गये कदमों संबंधी केन्द्रीय मंत्री ने कैप्टन अमरेन्द्र सिंह को अवगत करवाया विदेशी मामले मंत्री सुष्मा स्वराज ने 2014 से मोसूल में बंदी बनाये हुये 39 भारतीयों जिनमें अधिकतर पंजाबी है ही खोज करने और उनको वापिस भारत लाने के लिए हर सुविधा प्रदान करने हेतू सभी कोशिशे की जाने संबंधी पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह को आश्वासन दिया है। ईराक द्वारा मोसूल को आईएसआईएस से मुक्त करवा लिये जाने के बाद भारतीय परिवारों के बंदी बनाये गये अपने रिश्तेदारों की खोज करने की कोशशे करने संबंधी रिपोर्टो के संदर्भ में कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने सोमवार दोपहर सुष्मा स्वराज के साथ बातचीत की और इस मामले में उनके सरगर्म दखल की मांग की केन्द्रीय मंत्री के साथ हुई अपनी टेलीफोन पर बातचीत के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि मोसूल में ईराक की आईएसआईएस पर जीत के बाद बंदी बनाये हुये व्यक्तियों के परिवार, उनके रिश्तेदारों की वापसी की उत्सुकता से इंतजार कर रहे है और उनको वापिस लाने के लिए केन्द्र सरकार की सहायता की जरूरत है मुख्यमंत्री कार्यालय के एक प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि निर्माण कार्यो में लगे भारतीयों को वर्ष 2014 मेें बंदी बना लिया गया था और इनको वापिस भारत लाने के लिए उनके मंत्रालय द्वारा सभी संभव कोशिशे किये जाने को भरोसा दिलाते हुये सुष्मा स्वराज ने कहा कि जनरल वीके सिंह को ईराक सरकार के साथ तालमेल करने के लिए ईराक भेजा गया है ताकि वहां फंसे भारतीयों को वापिस लाने के लिए सुविधा उपलब्ध करवाई जा सके। उन्होने कहा कि उन्होने भारतीय को हर सहायता देने के निर्देश दिये है। सुष्मा ने कहा कि बताया कि एयरपोर्ट पर एयर इंडिया के कर्मचारियों को भी निर्देश दिये गये है कि वह इन भारतीयों की वापसी के लिए सहायता उपलब्ध करवाऐ। उन्होने कहा कि उनके मंत्रालय ने गुम हुये भारतीयों की खोज करने के लिएसभी उपलब्ध स्रोतों को सरगर्म कर दिया है जिन संबंधी अंतिम बार मोसूल ने एक गिरजाघर में छुपे होने संबधी पता लगा है केन्द्रीय मंत्री ने कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने बताया कि भारतीयों को वापिस लाने के लिए सभी चैनलों को सरगर्म कर दिया है और उन्होने कहा है कि इनके वापस भारत लाने के बाद उन्होने अपने अपने घर पहुचंाने के लिए राज्य सरकार सभी कदम उठाये।सुष्मा स्वराज ने पिछले महीने दौरान बंदी बनाये व्यक्तियों के परिवारों के साथ बहुत सी बैठक की और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी मध्यपूर्व के देशों के पास यह मुददा उठाया। मुख्यमंत्री ने उम्मीद प्रकट की कि 39 भारतीय शीघ्र ही वापिस आज जाएगें क्योकि अब मोसूल आईएसआईएस के कब्जे में नही रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here