भाजपा के दोनों नेताओं ने कहा कि अब आम आदमी पार्टी की जनमत संग्रह-2020 पोस्टरों के मुद्दे पर चुप्पी का कारण स्पष्ट हो गया है।

0
593

ऑय 1 न्यूज़ ब्यूरो रिपोट  आम आदमी पार्टी के विधायक और पंजाब विधानसभा में निवर्तमान विपक्ष के नेता एचएस फूलका के सिख फार जस्टिस (एसएफजे) के साथ जुड़े होने के प्रमाण देते हुए पंजाब भाजपा के उपाध्यक्ष हरजीत सिंह ग्रेवाल और सचिव विनीत जोशी ने सोमवार को मीडिया के समक्ष सिख फार जस्टिस की वेबसाइट खोलकर दिखाई।
खास बात यह है कि पंजाब भाजपा ने रविवार को ही प्रेस कांफ्र्रेंस में खुलासा किया था कि एचएस फूलका के तार सिख फार जस्टिस के साथ जुड़े हैं और इसी कारण आम आदमी पार्टी पंजाब भर में लगे जनमत संग्रह-2020 के पोस्टरों पर चुप्पी साधे बैठी है। सोमवार को ग्रेवाल और जोशी ने मीडिया को सिख फार जस्टिस की वेबसाइट पर जनवरी 2008 में सिख फार जस्टिस की भारतीय इकाई द्वारा एचएस फूलका व नवकिरन सिंह को उन्हीं के द्वारा बनाए गए सिख जिनोसाइड कमीशन का सदस्य बताया है।

इसी में आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता व नेता नवकिरन सिंह को सिख फार जस्टिस की भारतीय इकाई द्वारा बनाए गए ह्यूमन राइट्स वकीलों के कोर ग्रुप का मेंबर नियुक्त दिखाया गया है। उस कोर ग्रुप की ओर से एक संयुक्त बयान भी जारी किया गया है।

 

भाजपा के दोनों नेताओं ने कहा कि अब आम आदमी पार्टी की जनमत संग्रह-2020 पोस्टरों के मुद्दे पर चुप्पी का कारण स्पष्ट हो गया है। जिस तरह चुनाव के दौरान अरविंद केजरीवाल अखौती सरबत खालसा के साथ खड़े दिखे, उसी सरबत खालसा की ओर से नियुक्त जत्थेदार को मिले, एसजीपीसी की ओर से निलंबित पंज प्यारों को मिले और खालिस्तानी कमांडो फोर्स के सुरिंदर सिंह के घर में जाकर ठहरे तो जनमत संग्रह 2020 पोस्टरों पर उनका चुप रहना सभी को समझ आ गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here