एसवाईएल को लेकर पंजाब और हरियाणा के बीच लंबे समय से जारी विवाद के बीच सोमवार को इस मुद्दे पर तनातनी और बढ़ गई ।

0
568
सतलुज यमुना लिंक नहर (एसवाईएल) के पानी पर हक को लेकर पंजाब-हरियाणा के बीच लंबे समय से जारी विवाद के बीच सोमवार को इस मुद्दे पर तनातनी और बढ़ गई। एसवाईएल के पानी पर हरियाणा का हक जताते हुए इनेलो नेताओं और वर्करों ने चेतावनी के तहत पंजाब से हरियाणा में प्रवेश करने वाले वाहनों को रोक दिया। उन्होंने प्रदर्शन करते हुए शम्भू बैरियर पर करीब छह घंटे तक यातायात बाधित रखा।  सुरक्षा के लिहाज से शम्भू बैरियर छावनी में तब्दील रहा। पंजाब-हरियाणा का सीमावर्ती क्षेत्र पूरी तरह सील रहा दिया गया था। आखिरकार दिन में तीन बजे के बाद हाईवे पर यातायात बहाल हुआ और पंजाब की ओर से आने वाले वाहन दिल्ली की ओर आगे बढ़ सके शम्भू बैरियर पर दोनों राज्यों की पुलिस के अलावा अर्द्धसैनिक बल व आरपीएफ के जवानों की तैनाती की गई थी। इनेलो नेताओं ने पहले से ही यहां प्रदर्शन के तहत पंजाब से आने वाले वाहनों को हरियाणा में न घुसने देने की चेतावनी दी थी। इसी वजह से सीमा पर बैरिकेडिंग की गई थी। एहतियात के तौर पर यहां दंगा नियत्रंण वज्र वाहन और एंबुलेंस तथा डाक्टरों की टीम भी मौजूद रही। इतना ही नहीं एसएसपी पटियाला एस. भुपति, डीसी पटियाला अमित कुमार, एसपीडी हरविन्द्र सिंह विर्क, डीएसपी डी सुखविन्द्र सिंह चौहान, एसडीएम राजपुरा विजय कुमार, डीएसपी राजपुरा कृष्ण कुमार पांथे ने भी शम्भू बैरियर पर मोर्चा संभालते रखा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here