पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आढ़तिया एसोसिएशन की मागें सुनी

0
538

आढ़तिया एसोसिएशन ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को दिया फकरे ए कॉम का सम्मान ,ट्रक यूनियनों को ख़त्म करने का आढ़तियों ने किया स्वागत ,लाला सिंह ने आढ़तियों से व्याज दर कम करने की अपील करते जायदा व्याज लेने पर सख्ती करने को कहा, ट्रक यूनियनें व्यपारी और आढ़तियों को कर रही थी परेशां,व्यपारिओं ने भी इंडस्ट्री देने के बदले सस्ती बिजली और यूनियन ख़त्म करने की राखी थी मांग

पंजाब के किसानो का कर्ज माफ़ करने के बाद आढ़तियों के कर्ज को लेकर बड़ी मांग सर्कार के सामने किसानो ने रखी थी जिसके बाद आढ़तियों के साथ बैठक करते सर्कार ने कर्ज माफ़ की बात तो नहीं की लेकिन किसानी को सुधारने के लिए आढ़तियों का साथ माँगा वही जायदा ब्याज दर लगा किसानो पर कर्ज बढ़ने वाले आढ़तियों से सख्ती से निपटने की तयारी की जा चुकी है वहीँ आढ़तियों की समस्याओं को भी हल करने का सर्कार ने भरोसा दिया.

पंजाब की किसानी में आढ़तिया और किसान के बीच एक बड़ी कड़ी है यही कारन भी है की किसनओ के ऊपर का कर्ज बैंको के बाद आढ़तियों का है जिसमे कई बार आत्महत्या के कारन में सामने भी आया है जिसमे कर्ज मुक्ति के वायदे में बैंको का कर्ज में पंजाब सर्कार ने राहत तो दी लेकिन आढ़तियों का कर्ज माफ़ी का व्यादा सर्कार ने अभी पूरा नहीं किया जिसकी मांग किसान अभी भी कर रहे हैं लेकिन नियम अनुसार सर्कार अभी इसे पूरा नहीं भी कर सकते लेकिन सर्कार ने आढ़तियों के साथ बैठक करते हुए थोड़ी राहत के रूप में किसान के लिए आढ़तियों को अपना सिस्टम अनुकूल करने के लिए कहा है जिसमे 1.5% से जायदा ब्याज दर लेने वाले आढ़तियों पर कार्यवाही के उद्देश दिए व् आढ़तियों का सहयोग माँगा और हिसाब सही रहे इसके लिए पासबुक लगाने की अपील की ताकि किसान और आढ़तिया के बीच कर्ज को लेकर किसी तरह का झगड़ा नहीं हो.

Bite Speech:लाल सिंह (चेयरमेन पंजाब मंडी बोर्ड)

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा की आढ़तियों के सामने आ रही व् तमाम व्यपारी वर्ग की तरफ से लम्बे समय से मांग की जा रही थी की ट्रक यूनियन की तरफ से उन्हें लगातार परेशां किया जाता है व् जायदा किराया वसूला जाता है जिसको देखते हुए जब वो मुंबई में विषओं से इंडस्ट्री पंजाब लेन के लिए मिले तब भी व्यपारिओं की तरफ से सस्ती बिजली व् ट्रक यूनियनों की परेशानी रखी तो पंजाब में जरूरत को देखते ट्रक यूनियन सिस्टम ख़त्म किया गया जिसमे आढ़तियों को भी बड़ी राहत मिली तो व्यपार वर्ग को भी .

Bite Speech:कैप्टन अमरिंदर सिंह

आढ़तिया वर्ग ने सरकर की तरफ से हर परेशानी के हल करने के अहवासन से ख़ुशी जाहिर की तो बैठक के बाद दूसरे दिन कैप्टन अमरिंदर सिंह को फकर ए कॉम का नाम देते सम्मान भी किया जिसमे कैप्टन अमरिंदर सिंह धन्यवाद देते हुए क्या की अगर आढ़तिया और किसान के बीच का सिस्टम ठीक हो तो आने वाले समय में किसानी को बेहतर किया जा सकता है व् किसानो का कर्ज अगर माफ़ किया है तो उसमे आढ़तियों को भी फायदा होगा .

Bite:Speech:कैप्टन अमरिंदर सिंह

पंजाब के आढ़तियों का कर्ज किसानो के लिए परेशानी का कारन तो है लेकिन आढ़तिया इसे ऐसा नहीं मानते बल्कि किसानो की आत्महत्या के पीछे के कारन वो और बताते हैं साथ हीआढ़तियों के साथ रखे समागम में पूर्व सर्कार के सर कई तरह के घाटे व् गलत नीतिओं के ठीकरे फोड़े गए तो भविष्य में उज्वल पंजाब के सपने तो देखे गए जिसे पूरा करना कैप्टन ने दवा किया .
ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को दिया फकरे ए कॉम का सम्मान ,ट्रक यूनियनों को ख़त्म करने का आढ़तियों ने किया स्वागत ,लाला सिंह ने आढ़तियों से व्याज दर कम करने की अपील करते जायदा व्याज लेने पर सख्ती करने को कहा, ट्रक यूनियनें व्यपारी और आढ़तियों को कर रही थी परेशां,व्यपारिओं ने भी इंडस्ट्री देने के बदले सस्ती बिजली और यूनियन ख़त्म करने की राखी थी मांग

पंजाब के किसानो का कर्ज माफ़ करने के बाद आढ़तियों के कर्ज को लेकर बड़ी मांग सर्कार के सामने किसानो ने रखी थी जिसके बाद आढ़तियों के साथ बैठक करते सर्कार ने कर्ज माफ़ की बात तो नहीं की लेकिन किसानी को सुधारने के लिए आढ़तियों का साथ माँगा वही जायदा ब्याज दर लगा किसानो पर कर्ज बढ़ने वाले आढ़तियों से सख्ती से निपटने की तयारी की जा चुकी है वहीँ आढ़तियों की समस्याओं को भी हल करने का सर्कार ने भरोसा दिया.

पंजाब की किसानी में आढ़तिया और किसान के बीच एक बड़ी कड़ी है यही कारन भी है की किसनओ के ऊपर का कर्ज बैंको के बाद आढ़तियों का है जिसमे कई बार आत्महत्या के कारन में सामने भी आया है जिसमे कर्ज मुक्ति के वायदे में बैंको का कर्ज में पंजाब सर्कार ने राहत तो दी लेकिन आढ़तियों का कर्ज माफ़ी का व्यादा सर्कार ने अभी पूरा नहीं किया जिसकी मांग किसान अभी भी कर रहे हैं लेकिन नियम अनुसार सर्कार अभी इसे पूरा नहीं भी कर सकते लेकिन सर्कार ने आढ़तियों के साथ बैठक करते हुए थोड़ी राहत के रूप में किसान के लिए आढ़तियों को अपना सिस्टम अनुकूल करने के लिए कहा है जिसमे 1.5% से जायदा ब्याज दर लेने वाले आढ़तियों पर कार्यवाही के उद्देश दिए व् आढ़तियों का सहयोग माँगा और हिसाब सही रहे इसके लिए पासबुक लगाने की अपील की ताकि किसान और आढ़तिया के बीच कर्ज को लेकर किसी तरह का झगड़ा नहीं हो.

Bite Speech:लाल सिंह (चेयरमेन पंजाब मंडी बोर्ड)

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा की आढ़तियों के सामने आ रही व् तमाम व्यपारी वर्ग की तरफ से लम्बे समय से मांग की जा रही थी की ट्रक यूनियन की तरफ से उन्हें लगातार परेशां किया जाता है व् जायदा किराया वसूला जाता है जिसको देखते हुए जब वो मुंबई में विषओं से इंडस्ट्री पंजाब लेन के लिए मिले तब भी व्यपारिओं की तरफ से सस्ती बिजली व् ट्रक यूनियनों की परेशानी रखी तो पंजाब में जरूरत को देखते ट्रक यूनियन सिस्टम ख़त्म किया गया जिसमे आढ़तियों को भी बड़ी राहत मिली तो व्यपार वर्ग को भी .

Bite Speech:कैप्टन अमरिंदर सिंह

आढ़तिया वर्ग ने सरकर की तरफ से हर परेशानी के हल करने के अहवासन से ख़ुशी जाहिर की तो बैठक के बाद दूसरे दिन कैप्टन अमरिंदर सिंह को फकर ए कॉम का नाम देते सम्मान भी किया जिसमे कैप्टन अमरिंदर सिंह धन्यवाद देते हुए क्या की अगर आढ़तिया और किसान के बीच का सिस्टम ठीक हो तो आने वाले समय में किसानी को बेहतर किया जा सकता है व् किसानो का कर्ज अगर माफ़ किया है तो उसमे आढ़तियों को भी फायदा होगा .

Bite:Speech:कैप्टन अमरिंदर सिंह

पंजाब के आढ़तियों का कर्ज किसानो के लिए परेशानी का कारन तो है लेकिन आढ़तिया इसे ऐसा नहीं मानते बल्कि किसानो की आत्महत्या के पीछे के कारन वो और बताते हैं साथ हीआढ़तियों के साथ रखे समागम में पूर्व सर्कार के सर कई तरह के घाटे व् गलत नीतिओं के ठीकरे फोड़े गए तो भविष्य में उज्वल पंजाब के सपने तो देखे गए जिसे पूरा करना कैप्टन ने दवा किया .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here