1984 सिख दंगो के मामले में समाजसेवी संस्था नई बनी पंजाब सरकार के आगे रखेगी मांग केन्द्र जाँच एजंसी सीट नहीं निभा रही सही भूमिका

0
499

अमित सेठी 22 मार्च 2017 चंडीगढ़  1984 सिख दंगो के मामले में समाजसेवी संस्था नई बनी पंजाब सरकार के आगे रखेगी मांग केन्द्र जाँच एजंसी सीट नहीं निभा रही सही भूमिका,सिर्फ 4 ढंग मामलों पर ही दाखिल हुई चार्जशीट बाकि मामलों को भुलाने की कोशिश में सीट,कुल बन्द हो चुके 267 मामलों में से 59 मामलों की हुई थी पहचान लेकिन 38 मामले बन्द कर सिर्फ 4 की चार्जशीट दाखिल हुई,सीनियर वकील नवकीर्ण ने भी सीट की भूमिका पर उठाये सवाल

सिख दंगो के मामलों में आज भी बात की जाती है तो इंसाफ के मामले में दुःख झलकता नजर आता है जिसमे बड़ा कारण दोषियो को सजा न मिलना कारन है तो वहिं केंद्र सरकार दुआरा बनाई गई सीट सवालों के घेरे में रहती है जिस पर फिर सवाल उठे हैं तो वहिं नई बनी पंजाब सर्कार के आगे भी रखा जायेगा मामला।
सिख दंगा मामले पर फिर चर्चा शुरू हुई है तो वहिं पंजाब में नई बनी सर्कार के आगे लंबे समय से काम कर रही सिख दंगा मामलों में एमनेस्टी अंतर्राष्ट्रीय संस्था उठाने जा रही है कियुंकी पंजाब से जुड़े बड़ी संख्या में परिवार 1984 दंगो से पीड़ित है तो इसमें अगर राज्य सरकार केंद्र पर दानव बनाती है तो जिन दंगा मामलों में कार्यवाही आज भी ढीली चल रही है उसमें रफ़्तार बढ़ाई जाए कियुंकी 1984 दंगा मामलों में जाँच कर रही एजंसी जिसे 2015 में गठित किया गया उसके दुआरा कुल बन्द किये 267 मामलों में से 59 को चुना गया जिसमे 38 मामलों को बंद कर दिया गया और सिर्फ 4 मामलों में अब चार्जशीट दाखिल की गई है जिसमे संस्था ने सवाल उठाया है कि दंगा पीड़ित मामलो में धीमी रफ्तार से काम कर रही है।
Bite सनम सुतीरथ वजीर (संस्था प्रमुख)
 1984 सिख दंगा मामलों में लगातार लड़ाई लड़ रहे सीनियर वकील नवकीर्ण ने कहा कि सीट बनाई गई है लवकिन उसमें बहुत से चीजें अभी भी छूट रही है जिसमे जरूरत है कि केंद्र इसमें घम्बिर्ता दिखाये।
Bite नावकिरण सिंह (सीनियर वकील)
सिख दंगा पीड़ित मामलों में लगातार सवाल उठते जा रहे हैं तो वहिं जिस तरह से बहुत से मामले आज भी पीछे छुट्टे नजर आ रहे है अब पंजाब सरकार से एक बार फिर उम्मीद जताई जा रही है कि अगर राज्य सरकार दबाव बनाए ताकि जाँच में पीड़ितों को इंसाफ की किरण नजर पड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here