पूर्व उपमुख्यमंत्री और शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल के सरकारी निवास स्थान सेक्टर 2 मैं आज कोर कमेटी की एक अहम बैठक हुई जिसकी अध्यक्षता खुद सुखबीर सिंह बादल ने की

0
489
अमित सेठी 20-03-2017
पूर्व उपमुख्यमंत्री और शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल के सरकारी निवास स्थान सेक्टर 2 मैं आज कोर कमेटी की एक अहम बैठक हुई जिसकी अध्यक्षता खुद सुखबीर सिंह बादल ने की  कोर कमेटी के 22 सदस्यों में से 19 सदस्य मीटिंग में मौजूद थे ।जिनमें से निर्मल सिंह काहलों गुरदेव सिंह बादल और चरणजीत सिंह अटवाल ही अनुपस्थित थे। इस कोर कमेटी में वोटरों को धन्यवाद दिया गया और कांग्रेस द्वारा चलाए गए 120 सूत्रीय कार्यक्रम को शिरोमणि अकाली दल के कार्यक्रम की नकल बताया गया ।इसके साथ ही यह भी चेतावनी दी गई के यदि शिरोमणि अकाली दल के कार्यकर्ताओं को परेशान किया गया तो इसका भरपूर जवाब दिया जाएगा।
मीटिंग खत्म होने के बाद पंजाब के शिरोमणि अकाली दल के प्रवक्ता हरचरण सिंह बैंस ने बताया के आज की कोर कमेटी की मीटिंग में सबसे पहले वोटरों को धन्यवाद दिया गया जिन्होंने वोट डालकर शिरोमणि अकाली दल के उम्मीदवारों का हौसला बढ़ाया ।उन्होंने कहा कि साथ ही इस कोर कमेटी में इस बात की समीक्षा की गई के शिरोमणि अकाली दल का सत्ता में ना आने और ज्यादा सीटों पर हारने के क्या कारण रहे । कांग्रेस द्वारा घोषित किए गए 120 सूत्रीय कार्यक्रम के बारे में समीक्षा करने पर पता चला कि वह सब कुछ शिरोमणि अकाली दल के कार्यक्रमों की नकल है। उदाहरण देते हुए हरचरण सिंह बैंस ने बताया के ड्रग्स बेचने वालों की प्रॉपर्टी जब्त करने का जो कांग्रेस सरकार ने फैसला लिया है वह शिरोमणि अकाली दल सरकार पहले ही लागू कर चुकी है। साथ ही सर्वसम्मति से यह फैसला भी लिया गया है के पंजाब को उन्नति के रास्ते पर ले जाने वाले हर कदम में शिरोमणि अकाली दल कांग्रेस का साथ देगा पर जहां पंजाब हित की उल्लंघना होती होगी वहां कांग्रेस का पुरजोर विरोध किया जाएगा। इसके साथ ही यह देखने को आया है कि शिरोमणी अकाली दल के वर्करों को कांग्रेस वालों ने परेशान करना शुरू कर दिया है। यदि ऐसा आगे से हुआ तो शिरोमणि अकाली दल अपने वर्करों के साथ हमेशा खड़ा है और इस जुलम का डटकर मुकाबला करेगा। इसके साथ ही मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल का 10 साल इतना अच्छा शासन चलाने पर धन्यवाद किया गया और असफलता के कारणों पर मंथन किया गया।
बाइट हरचरण सिंह बैंस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here