भारत पर होते हैं हर दिन चीन व् पाक्सितान के साइबर अटेक,भारत साइबर अटेक से निपटने के लिए स्थापित कर रहा आधुनिक सिस्टम

0
487

आमिर सेठी 09-मार्च 2017 भारत पर होते हैं हर दिन चीन व् पाक्सितान के साइबर अटेक,भारत साइबर अटेक से निपटने के लिए स्थापित कर रहा आधुनिक सिस्टम,देश की ख़ुफ़िया जानकारी पर रहती हैं विदेशी एजंसियों की नजर ,सबसे सवेदनशील सुरक्षा सिस्टम,आम लोगों को नेटबैंकिंग के लिए हैकर से बचने के लिए इस्तेमाल करना चाहिए वेबसाइट का विर्चुअल कीपैड
साइबर अटेक जिस तरह बढ़ते जा रहे हैं उसमे दूसरे देश विशेष सिस्टम स्थापित कर एक दूसरे की ख़ुफ़िया जानकारी को हासिल करने के लिए साइबर अटेक करते हैं जिसमे भारत को सबसे बड़ा खतरा चिह्व पाकिस्तान से रहता है को सैकड़ों बार एक दिन में अटेक करते हैं तो भारत भी बना रहा है आधुनिक सिस्टम

साइबर अटेक एक इस नाम बन चूका है जिसकी चपेट में कोई भी आ सकता है तो बड़ा नुकसान साइबर अटेक से भुगतना पद सकता है कियुंकी जिस तरह से आधुनिक समय में जरूरतों को पूरा करने के लिए ऑनलाइन सिस्टम का इस्तेमाल कर रहे हैं तो उसमे बड़ा सवाल देश की सुरक्षा हैं जिसमे विभागों की गोपनीय फाइल्स और सुरक्षा से जुडी जानकारी पर दूसरे देशों की एजंसियों की नजर रहती हैं और सबसे जायद अब के समय में पाकिस्तान और चीन भारत पर हर दिन सैकड़ों बार साइबर अटेक करते हैं लेकिन समय की जरूरत के हिसाब से भारत को अच्छे सिस्टम के साथ अपग्रेड होने की जरूरत हैं जिस पर काम शुरू हो चूका है.

एस डी प्रधान (पूर्व डिप्टी एडवाइजर राष्ट्रिय सुरक्षा एवं जुऐंट इंटेलेजेंस पीएमओ
साइबर एक्सपर्ट व् राष्ट्रिय सुरक्षा के सलाहकार मानते हैं के जिस तरह से जायद काम अब कंप्यूटर व् ऑनलाइन हो रहा है उसमे जरूरत है समय के हसियाब से अच्छे सिस्टम के साथ काम करने ताकि देश की जानकारी बचाया जा सके कियुंकी दूसरे देश अगर साइबर अटेक में कामयाब होते हैं तो उसमे देश के लिए बड़ा खतरा बन सकता है.

एस डी प्रधान (पूर्व डिप्टी एडवाइजर राष्ट्रिय सुरक्षा एवं जुऐंट इंटेलेजेंस पीएमओ

राष्ट्रिय सुरक्षा एजंसियों के विशेषज्ञ मानते हैं की आज के समय में आम हैकर जहाँ लोगों को ब्लेकमैल करते हैं तो देश पर होने वाले साइबर हमले देश की आर्थिकता व् सुरक्षा को खतरा हैं वहीँ आम ज़िन्दगी में बात करें तो सबसे जरूरत नेटबैंकिंग में सुरक्षित रहने की हैं जिसमे जब भी आप नेटबैंकिंग इस्तेमाल करें तो उसमे आक जिस साइट पर काम कर रहे हैं तो उसका साइट अड्रेस होना जरुरी है तो साथ ही मोबाइल या कम्प्यूटर पर आप ट्रांसैक्शन करें तो मोबाइल /कंप्यूटर के कीपैड की जगह विर्टचुअल कीपैड इस्तेमाल करें जो हैक नहीं हो सकता.

डॉ परवीन कुमार (साइंटिस्ट मोबाईल फोरेंसिक
देश में साइबर अटेक खतरा हर दिन बढ़ रहा है तो आम जिंदगी में भी डिजिटल सिस्टम सुरक्षित नहीं ऐसे में जरूरत है देश में आतंकी घटनाओं के साथ साइबर आतंक के लिए अपग्रेड होने की ताकि की इससे बचा जा सके

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here