दिल्ली के आप विधायकों ने केजरीवाल के घोटालों, नाकाम वायदों की श्रृंखला का खुलासा किया पूर्व मंत्री ने उन्हें झूठे केस में फंसाने के लिए आप नेता पर साजिश रचने का आरोप लगाया

0
560

चंडीगढ़, 3 फरवरी:  अमित सेठी ​दिल्ली के आप विधायकों ने केजरीवाल के घोटालों, नाकाम वायदों की श्रृंखला का खुलासा किया पूर्व मंत्री ने उन्हें झूठे केस में फंसाने के लिए आप नेता पर साजिश रचने का आरोप लगाया दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार द्वारा वहां के लोगों के साथ किए गए धोखे का प्रत्यक्ष सबूत पेश करते हुए, राष्ट्रीय राजधानी से आम आदमी पार्टी के दो विधायकों ने शुक्रवार को श्रृंखलाबद्ध घोटालों और कोई भी चुनावी वायदा पूरा न करने को लेकर आप नेता का भंडाफोड़ किया है।

यहां पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए, विधायकों कर्नल दविंदर शेरावत व असीम अहमद (दिल्ली के पूर्व मंत्री) ने करीब दो साल पहले दिल्ली में आप सरकार बनने के बाद से वहां फैली अव्यवस्था के लिए केजरीवाल को जिम्मेदार ठहराया और पंजाब के लोगों को आप नेता के झूठे वायदों व बड़े-बड़े दावों में फंसने के विरूद्ध चेतावनी दी है।
इस दौरान, अहमद ने उन्हें झूठे आरोपों में फंसाने हेतु दिल्ली के मुख्यमंत्री द्वारा रची गई साजिश संबंधी एक ऑडियो क्लिप को चलाया। जिस क्लिप में आप वर्कर द्वारा अहमद को बताया जा रहा है कि किस प्रकार उन्हें एक व्यक्ति के जरिए झूठा फंसाया गया था और उक्त व्यक्ति को 11 लाख रुपए अदा किए गए थे।
अहमद ने केजरीवाल को एक बड़ा झूठा करार देते हुए कहा कि उन्हें दिल्ली कैबिनेट से सिर्फ इसलिए हटा दिया गया था, क्योंकि उन्होंने आप नेता द्वारा पद पर बनाए रखने के लिए मांगी गई 5 करोड़ रुपए की राशि अदा करने से इंकार कर दिया था। अहमद ने कहा कि पंजाब में एक दलित उप मुख्यमंत्री बनाने का दावा करने वाले केजरीवाल द्वारा एक दलित को दिल्ली में अपनी कैबिनेट से हटा दिया गया था। इसी तरह, वह बीते मुख्यमंत्रियों के इतिहास के विपरीत एक भी सिख को दिल्ली की कैबिनेट में मंत्री नियुक्त करने में नाकाम रहे हैं।
उन्होंने केजरीवाल द्वारा दिल्ली में किए गए झूठे वायदों का भंडाफोड़ करते हुए खुलासा किया कि राष्ट्रीय राजधानी में विकास रुक चुका है, और बीते एक वर्ष से गरीबों को एक भी राशन कार्ड नहीं जारी किया गया है। अहमद ने यहां तक खुलासा किया कि इनके मुख्यमंत्री बनने के बाद दो स्कूल भी नहीं खोले गए हैं व गरीबों को पैंशन भी नहीं दी जा रही है। जबकि इसके विपरीत केजरीवाल के शासनकाल में 400 नए शराब के ठेके खोले गए हैं।
अहमद ने कहा कि केजरीवाल ने दिल्ली में किया गया एक भी वायदा नहीं निभाया है और उन्होंने पंजाब के लोगों से इनके धोखों से सावधान रहने की अपील की है।
कर्नल दविंदर शेरावत ने केजरीवाल किए गए कई घोटालों का खुलासा किया, जिनमें गुटका, शराब, आटो परमिट व ओड-ईवर स्कीम भी शामिल हैं। शेरावत ने कहा कि जहां ओड-ईवन स्कीम को निजी कैब सर्विसेज की सहायता करने हेतु लाया गया था, केजरीवाल ने गुटका बैन करने संबंधी अपने वायदे से पीछे हटने के बदले में गुटका एसोसिएशन से 700-1000 करोड़ रुपए ले लिए थे।
उन्होंने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री द्वारा 1000 नए स्कूल खोलने का वायदा करने के बावजूद, उनके विधानसभा क्षेत्र में स्थित पहले वाला स्कूल भी बुरी हालत में चल रहा है। ऐसे में केजरीवाल के अन्य वायदों की तरह नए स्कूल भी ठंडे बस्ते में चले गए।
शेरावत ने केजरीवाल पर एक ही साथ करीब आधा दर्जन राज्यों का मुख्यमंत्री बनने की इच्छा रखने का आरोप लगाया है और वह इसके लिए किसी भी स्तर तक नीचे गिर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here