आज एसोसिएशन ऑफ ब्रिटिश स्कॉलर्स ने पंजाब विश्वविद्यालय के साथ मिलकर ‘हायर एजुकेशन इन यूके पोस्ट ब्रेक्सिट ‘ विषय पर एक संवादात्मक सत्र का आयोजन किया गया

0
535

आज एसोसिएशन ऑफ ब्रिटिश स्कॉलर्स ने पंजाब विश्वविद्यालय के साथ मिलकर ‘हायर एजुकेशन इन यूके पोस्ट ब्रेक्सिट ‘ विषय पर एक संवादात्मक सत्र का आयोजन किया गया  सत्र के मुख्य वक्ता चंडीगढ़ में ब्रिटेन के डेप्यूटी हाई कमिश्नर  डेविड लेलियट रहे  उनके व्याख्यान के बाद प्रश्नोत्तर का चरण रहा  जिसमें छात्रों ने ब्रिटेन में उच्च शिक्षा से सम्बंधित अपने विभिन्न सवालों को उनके सामने रखा
इससे पहले सत्र की शुरुआत पंजाब विश्वविद्यालय तथा ब्रिटेन के राष्ट्रीय गीतों के साथ हुई  डेविड ने भारत व् ब्रिटेन के संबंधों की तारीफ करते हुए बताया कि वहाँ विदेशी छात्रों की संख्या लगातार बढ़ रही है लेकिन उसमें भारतीय छात्रों की संख्या कम हो रही है , उन्होंने कहा कि ब्रिटेन में कोर्सेज कम समय में छात्रों को उच्च क्वालिटी मुहैया करवाते हैं । वहाँ से स्नातक करने के बाद छात्रों ने विश्व के उच्चतम वेतन के साथ अपने जॉब करियर की शुरुआत की है डेविड ने भारतीय छात्रों को केंद्रित करते हुए वहाँ उपलब्ध विभिन्न फेलोशिप के बारे में बताया तथा उम्मीद जताई आने वाले समय में ब्रिटेन में भारतीय छात्रों की संख्या में वृद्धि होगी एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि ब्रेक्सिट की प्रक्रिया तय समय में पूरी हो जायेगी लेकिन यह  उच्च शिक्षा के किसी भी क्षेत्र को नकारात्मक रूप से प्रभावित नहीं करेगी  इससे पहले सत्र की शुरुआत करते हुए पंजाब विश्वविद्यालय की डीन इंटरनेशनल स्टूडेंट वेलफेयर प्रोफेसर दीप्ती गुप्ता ने सभी का स्वागत किया । सत्र के विषय के बारे में  एबीएस चंडीगढ़ के अध्यक्ष प्रोफेसर बीएस घुमन ने बताया । वहीं सभी वक्ताओं का परिचय यूआइलस से डॉक्टर श्रुति बेदी ने करवायासत्र में विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर श्री अरुण ग्रोवर ,डीअसडब्ल्यू प्रोफेसर एमुनुअल नाहर व प्रोफेसर नीना कपलाश भी रहे तथा उन्होंने श्री डेविड का छात्रों के बीच आकर विषय के बारे में जानकारी देने तथा उनके प्रश्नों का उत्तर देने के लिए धन्यवाद किया ।। वहीं सत्र में विश्वविद्यालय के काफी संख्या में छात्र , शोध छात्र , प्रोफेसर तथा एबीएस चंडीगढ़ के सदस्य मौजूद रहे । सत्र की समाप्ति भारतीय राष्ट्रीय गान के साथ हुई ।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here