भारत में कंप्यूटर युग की शुरुआत हो चुकी है। पर विडंबना यह है कि भारत की 70% आबादी ग्रामीण इलाकों में है जहां कंप्यूटर की पहुंच होते होते काफी समय लग जाएगा ।इसी बात पर लंदन में स्थित भारतीय मूल की महिला मधु कालिया द्वारा एक एनजीओ अधिकार भारत में शुरू की गई है

0
508

अमित सेठी 22-01-2017 भारत में कंप्यूटर युग की शुरुआत हो चुकी है। पर विडंबना यह है कि भारत की 70% आबादी ग्रामीण इलाकों में है जहां कंप्यूटर की पहुंच होते होते काफी समय लग जाएगा ।इसी बात पर लंदन में स्थित भारतीय मूल की महिला मधु कालिया द्वारा एक एनजीओ अधिकार  भारत में शुरू की गई है  जिसके तहत ग्रामीण इलाके के बच्चों को मुफ्त में कंप्यूटर की शिक्षा दी जाएगी। आज इसी सिलसिले में शिवालिक विहार में ऐसे पहले कंप्यूटर सेंटर का उद्घाटन किया गया। इस अवसर पर एक किताब भी लांच की गई जिसका नाम रिश्ते  लई रोशनी था जिस की लेखिका समाजसेवी मधु कालिया हैं एन जी ओ अधिकार की चेयरपर्सन मधु कालिया ने कहा के वह भारत के वासियों को पिछड़ा नहीं देख सकती और वह चाहती हैं कि भारत भी दूसरे देशों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर तरक्की करें। इसके लिए यह आवश्यक है के घर घर तक कंप्यूटर की शिक्षा पहुंचनी चाहिए ।जिन इलाकों में स्टूडेंट्स पढ़ने नहीं जा सकते उन इलाकों में यह शिक्षा उन तक पहुंचे। मधु कालिया ने बताया कि इसके लिए फंड जुटाने के लिए उन्हें किसी के आगे हाथ नहीं पसारना पड़ता क्योंकि वह अपनी कमाई से ही इतना बचा लेती है जिससे वह गरीब विद्यार्थियों को कंप्यूटर शिक्षा दिलाने में मदद कर सके। आज अपना पहला कंप्यूटर सेंटर उन्होंने नया ग्राम के इलाके में खोला है। उनके भविष्य का यही कार्यक्रम है कि वह घर घर तक कंप्यूटर शिक्षा को पहुंचा सके।

वाइट मधु कालिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here