जिला शिमला में बर्फबारी से प्रभावित विभिन्न आवश्यक सेवाओं को बहाल रखने के लिए जिला प्रशासन शिमला ने आज प्रातः भोर होते ही राहत कार्य आरंभ कर

0
535
शिमला, 16 जनवरी पूजा वर्मा  जिला शिमला में बर्फबारी से प्रभावित विभिन्न आवश्यक सेवाओं को बहाल रखने के लिए जिला प्रशासन शिमला ने आज प्रातः काल  होते ही राहत कार्य आरंभ कर दिए उपायुक्त शिमला  रोहन चंद ठाकुर ने सुबह विभिन्न क्षेत्रों में जाकर राहत कार्यों का निरीक्षण किया तथा लोगों को समयबद्ध विभिन्न सेवाएं प्रदान करने के लिए किए जा रहे राहत कार्यों में और तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होने बताया कि शिमला शहर में आवाजाही को सुचारू बनाने के लिए अधिकांश मार्गों से बर्फ को हटा दिया गया है। शिमला में विद्युत आपूर्ति सामान्य बनी हुई है। रोहन चंद ठाकुर ने बताया कि जिन सड़कों और मार्गों में बर्फ बहुत जम गया था और फिसलन की संभावना बनी हुई थी, वहां नमक डालकर आवाजाही को सुचारू बनाया गया। इस कार्य के लिए लोक निर्माण विभाग, नगर निगम शिमला और जिला पुलिस को नमक उपलब्ध करवाया गया है फागु से ढली, शिमला से मंडी, शिमला- चंडीगढ़, नालदेहरा-ढली, कार्ट रोड़, विक्ट्री टनल-संजौली सड़कें यातायात के लिए खोल दी गई हैं, सभी अस्पतालों तथा महत्वपूर्ण स्थलों की ओर जाने वाले मार्गों को भी आवाजाही के लिए सुचारू बनाया गया है बर्फबारी के दौरान यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाने के लिए पुलिस विभाग ने पहले से ही पूर्ण तैयारी की थी। इसके साथ-साथ चिन्हित स्थलों पर मशीनरी तैनात की गई थी, इससे बर्फ को सुबह अतिशीघ्र हटाने में काफी मदद मिली। सभी अस्पतालों और महत्वपूर्ण स्थानों में बर्फबारी के बावजूद सभी सेवाएं सामान्य रूप से प्रदान की जा रही हैं शिमला के सभी उपमंडलों में जन सेवाओं को सामान्य बनाए रखने के लिए उपमंडलाधिकारियों को निर्देश जारी किए गए हैं रामपुर में आज प्रातः 10:30 बजे तक बर्फबारी के कारण 15 सड़कें और कुमारसेन में 19 सड़कें यातायात के लिए बाधित हो गई थी, जिन्हें सुचारू बनाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। रामपुर में 395 विद्युत ट्रांसफार्मर और कुमारसेन में 208 ट्रांसफार्मर सामान्य रूप से काम कर रहे हैं यहां जलापूर्ति सामान्य हैं। ननखड़ी क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति सामान्य है
ठियोग उपमंडल में मुख्य सड़कों को यातायात के लिए सुचारू बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं तथा मतियाना तथा संधु क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति शीघ्र सामान्य कर दी जाएगी। ठियोग क्षेत्र में जलापूर्ति सामान्य हैं।
रोहड़ू व जुब्बल क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति सामान्य है। रोहड़ू में 498 ट्रांसफार्मर के माध्यम से नियमित आपूर्ति की जा रही है। रोहड़ू से हरिद्वार बस सेवा सामान्य रूप से चलाई जा रही है, यहां बाधित 12 सड़कों को खोलने के प्रयास किए जा रहे हैं।
रोहड़ू से जुब्बल सड़क, बस परिवहन के लिए खोल दी गई है तथा खड़ा पत्थर में बर्फबारी के कारण बंद है। इसे अतिशीघ्र खोलने के प्रयास किए जा रहे हैं। रोहड़ू से समरकोट तक सड़क खोल दी गई है। रोहड़ू क्षेत्र में जलापूर्ति सामान्य है। डोडरा-क्वार में विद्युत व जलापूर्ति सामान्य बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं।
चैपाल क्षेत्र में सभी आवश्य सेवाओं को सामान्य बनाने के लिए प्रशासन द्वारा समयबद्ध कदम उठाए जा रहे हैं। चैपाल, नेरवा तथा कुपवी क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति बहाल करने के लिए विद्युत बोर्ड के उच्च अधिकारियों के साथ मामला उठाया गया है तथा यहां विद्युत आपूर्ति अतिशीघ्र सामान्य बनाने के लिए कहा गया है।
चैपाल नेरवा सड़क छोटे वाहनों के लिए बहाल कर दी गई है। चैपाल-देहा रोड़ में यातायात को सामान्य बनाने के लिए मशीनरी तैनात कर दी गई है। नेरवा में सभी संपर्क मार्ग यातायात के लिए खुले हैं। यहां आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सामान्य बनी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here