बैंको की जिला स्तरीय समीक्षा समिति की त्रैमासिक बैठक आयोजित

0
409
बैंको की जिला स्तरीय समीक्षा समिति की त्रैमासिक बैठक आयोजित
शिमला, 20 दिसम्बर अमित सेठी सांसद, वीरेंद्र कश्यप ने लैस-कैश प्रक्रिया को प्रोत्साहित करने के लिए शिमला जिला में बैंकों को सृजनात्मक कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कैश-लेस प्रक्रिया को बढ़ावा देने के लिए व्यापारियों को पुरस्कृत किया जाना चाहिए। वह आज यहां बैंको की जिला स्तरीय समीक्षा समिति की त्रैमासिक बैठक में उपस्थित अधिकारियों को संबोधित करते हुए बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि बैंको द्वारा डिजिटल आर्थिकी और लैस-कैश प्रक्रिया को बढ़ावा देने के लिए लोगों को जागरूक किया जाना चाहिए तथा इस बारे में समुचित जानकारी प्रदान करनी चाहिए। इससे आर्थिक व्यवस्था सुदृढ़ होगी और पारदर्शिता भी बढ़ेगी। बैंको में लेनदेन की प्रक्रिया को अब और सुविधाजनक बनाया जा रहा है, ताकि लैस-कैश लेन-देन को बढ़ावा दिया जा सके।  वीरेंद्र कश्यप ने कहा कि बैंकों को स्वयं सहायता समूहों को प्रोत्साहित करने के लिए समयबद्ध प्रयास करने चाहिए तथा उन्हें सरकार के विकासात्मक कार्यक्रमों की जानकारी प्रदान करने के लिए जागरूकता शिविर भी आयोजित किए जाने चाहिए।
उन्होंने निजी बैंकों को निर्देश दिए कि जिला के ग्रामीण क्षेत्रों में वह अपनी अधिक से अधिक शाखाएं खोलें। उन्होंने कहा कि जिला में बैंकों की नई शाखाएं खोलने की प्रक्रिया पूर्ण कर ली गई है। अतिरिक्त उपायुक्त शिमला श्री राकेश कुमार प्रजापति ने बैंकों को सीडी रेशो में और सुधार लाने के निर्देश देते हुए कहा कि बैंक स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए सरकार के सभी निर्देशों की अनुपालना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन शिमला द्वारा उपायुक्त कार्यालय शिमला को कैश-लैस बनाने के लिए जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं, साथ ही सभी विकास खंडों में एक-एक पंचायत चिहिन्त कर उन्हें लैस-कैश बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं। बैठक में एजीएम आरबीआई  रवि रावल, एलडीएम, यूको बैंक,  एसबी मिश्रा, परियोजना अधिकारी डीआरडीए  सुरेश कुमार सिंघा, जिला आजीविका मिशन अधिकारी  एचआर महाजन, प्रबंधक डीआईसी  एसआर मेहता, पीओ डीडब्ल्यूडीए  एसपी भारद्वाज और विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here