चंडीगढ़ नगर निगम के चुनाव में बीजेपी ने 26 में से 20 वार्डों में जीत दर्ज की।

0
527

चंडीगढ़.500 / 1000 के नोट बंद करने का असर लग रहा था कि चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव में पर 26 में से 20 सीटों से भारतीय जनता पार्टी ने अपनी जीत हासिल की कांग्रेस के हाथ 4 सीटे लगी और एक सीट अकाली दल के पास और एक  सीट आजाद उमीदवार को मिली ।कल देर रात तक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने चंडीगढ़ की सभी सीटों पर अपनी दावेदारी कर दी थी पर मंगलवार का जैसे ही  सूरज उदय हुआ और जैसे ही काउंटिंग शुरू हुई तो कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के मुंह लटक ते हुवे नज़र आये  और भाजपा पार्टी के सभी कार्यकर्ता ढोल-नगाड़ों के साथ अपनी जीत का लुफ्त उठाते रहे करीब 20 सीटों पर भाजपा ने जीत हासिल की चंडीगढ़ बीजेपी कार्यालय में 3:30 बजे सभी कार्यकर्ताओं को बुला कर अपनी जीत का जश्न मनाया और पत्रकारों के साथ अपनी खुशी जाहिर की पंजाब में विधानसभा चुनाव के पहले पंजाब में बीजेपी के लिए खुशखबरी है। चंडीगढ़ नगर निगम के चुनाव में बीजेपी ने 26 में से 20 वार्डों में जीत दर्ज की। शिरोमणि अकाली दल को एक सीट मिली है। कांग्रेस 4 सीटों पर सिमटकर रह गई। 1996 के बाद बीजेपी को बहुमत मिला है। अमित शाह ने कहा कि जीत बताती है कि लोगों ने नोटबंदी के फैसले को पास कर दिया। वोटिंग रविवार को हुई थी। कुल 122 कैंडिडेट थे मैदान में…चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव के दौरान 122 कैंडिडेट मैदान में थे। इनमें से 67 निर्दलीय थे।
बीजेपी ने इस बार 22 सीटों पर चुनाव लड़ा था। 57 फीसदी वोट बीजेपी को मिले। बता दें कि चुनाव 26 सीटों पर लड़े गए। 9 सीट पर नॉमिनेटेड पार्षद होते हैं एक वोट सांसद का होता है। इस लिहाज से 35 सीटें होती हैं।एनालिस्ट्स के मुताबिक, नतीजों से साफ है कि बीजेपी पर नोटबंदी का कोई प्रभाव नहीं पड़ा।

BJP ने 20 सीटें जीती

वार्ड नं 1 :
बीजेपी के कैंडिडेट महेश इंदर सिंह सिधु जीते, 324 वोट से जीत दर्ज की। सिंधु को 3060 वोट पड़े, जबकि कांग्रेस के हरमोहिंदर सिंह लकी 2736 वोट मिले।
वार्ड नं 2 :
बीजेपी की राजबाला मलिक जीतीं। उन्हें 3882 वोट पड़े। जबकि कांग्रेस की दीपा दुबे को 2917 वोट मिले। मलिक ने 965 वोट से जीत दर्ज की।
वार्ड नं 3 :
बीजेपी के रविकांत शर्मा 417 वोट से जीते। रविकांत को कुल 3166 वोट मिले। जबकि रितु छाबड़ा को 2749 वोट मिले।
वार्ड नं. 4 :
बीजेपी की सुनीत धवन आगे। उन्हें 3595 वोट मिले। जबिक कांग्रेस उम्मीदवार को पूनम शर्मा को 3230 वोट मिले। धवन 365 वोट से आगे हैं।
वार्ड नं 6:
बीजेपी की फरमीला 2156 वोटों से जीतीं। उन्हें 4862 मिले।
वार्ड नं. 7:
राजेश कुमार 486 वोटों से जीते। राजेश को कुल 5331 वोट मिले।
वार्ड नं. 8 :
बीजेपी के अरुण सूद 2077 वोटों से जीते। सूद को कुल 8298 वोट मिले।
वार्ड नं 11 :
बीजेपी के सतीश कुमार 1050 वोटों से जीते। इन्हें कुल 4561 वोट मिले।
वार्ड नं 12 :
बीजेपी के चन्द्रावती शुक्ला 857 वोटों से जीते। इन्हें कुल 7044 वोट मिले।
वार्ड नं 13 :
बीजेपी की हीरा नेगी ने 1716 वोटों से जीत दर्ज की।
वार्ड नं 14 :
बीजेपी के कंवलजीत सिंह 1596 वोटों से जीते। इन्हें कुल 4054 वोट मिले।
वार्ड नं. 16 :
बीजेपी के राजेश कुमार गुप्ता 1106 वोटों से जीते। गुप्ता को कुल 4449 वोट मिले। उन्होंने कांग्रेस के पूर्व मेयर सुभाष चावला को हराया।
वार्ड नं 17 :
बीजेपी की आशा जैसवाल ने 1700 वोट से जीत दर्ज की।
वार्ड नं 21 :
बीजेपी के गुरप्रीत ढिल्लों ने 262 वोटों से जीत दर्ज की।
वार्ड नं 22 :
बीजेपी के देवेश मोदगिल ने 1975 वोटों से जीत दर्ज की।
वार्ड नं. 23 :
बीजेपी के भारत कुमार 6974 वोटों से जीते। उन्हें कुल 14097 वोट मिले।
वार्ड नं 24 :
बीजेपी के अनिल दुबे ने 9421 वोटों से जीत दर्ज की। उन्हें कुल 12115 वोट पड़े।
वार्ड नं. 25 :
बीजेपी के जगतार सिंह 6495 वोटों से जीते। उन्हें कुल 8976 वोट मिले।
वार्ड नं. 26 :
बीजेपी के विनोद अग्रवाल 2204 वोटों से जीते। इन्हें कुल 4687 वोट मिले।
वार्ड नं 10 : अकाली बीजेपी के हरदीप सिंह 30 17 वोटों से जीत दर्ज की।
जीता निर्दलीय बीजेपी का बागी
वार्ड नं.
19 से निर्दलीय उम्मीदवार दिलीप शर्मा 243 वोटों से जीते। उन्हें 3106 वोट मिले। जबकि बीजेपी के राज किशोर को 2863 वोट मिले।
दिलीप बीजेपी के बागी कैंडिडेट हैं।
कांग्रेस को 4 सीटें
वार्ड-5 :
कांग्रेस की शीला देवी जीतीं। शीला देवी को 5633 वोट मिले। जबकि शिरोमणि अकाली दल की मीना को 3772 वोट मिले। शीला ने 1861 वोट से जीत दर्ज की।
वार्ड -9 : गुरबख्श रावत 2128 वोटों से जीतीं।
वार्ड -18 : कांग्रेस के देवेंद्र सिंह बावला जीते।
वार्ड -15 : कांग्रेस की रविंदर कौर 71 वोटों से जीती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here