होटल होमटेल चंडीगढ़ में 2 से 11 दिसम्बर तक पेश कर रहा है बाल्टी फूड फेस्टीवल

0
536

होटल होमटेल चंडीगढ़ में 2 से 11 दिसम्बर तक पेश कर रहा है बाल्टी फूड फेस्टीवल

चंडीगढ़, 2 दिसम्बर, 2016 अमित सेठी होटल होमटेल चंडीगढ़ सिटी ब्यूटीफुल चंडीगढ़ के लोगों के लिये नित नये फूड प्रोमोशंस पेश करने में सदैव से आगे रहा है । कई फूड फेस्टीवल्स जैसे कश्मीरी, सिज्लर फूड फेस्टीवल, कबाब एंड बिरयानी, स्ट्रीट फूड फेस्टीवल आदि की आपार सफलता के बाद होमटेल अपने आल डे डाईनिंग रेस्टोरेंट फलेवर्स में अगामी 2 दिसम्बर से 11 दिसम्बर तक ‘बाल्टी फूड फेस्टीवल’ का आयोजन कर रहा है । यह फेस्टीवल हर शाम सात से 11 बजे तक आयोजत होता रहेगा । बाल्टी क्या है ? बाल्टी हिन्दी, उर्दू और बंगाली का शब्ह है जिसका मायना कोई बर्तन जिसमें कुछ समा सके या फिर अंग्रेजी में बकेट । इस शब्द की उत्पत्ति पुर्तगाली शब्द बालदे से हुई थी जिसका अंग्रेज मायने बकेट या पेल था । पुर्तगालियों ने समुद्र के रास्ते 16वीं सदी में दक्षिण ऐशिया में प्लायन किया ।  इस हिन्दी शब्द बाल्टी ने ब्रिटिश हकुमत के दौरान अंग्रेजी भाषा में अपनी जगह बनाई । बाल्टी सदियो पुराना कश्मीरी और तिब्बतियन व्यंजना कला है जिसमें लोहे के एक फ्राईपैन पर विविध मसालों व विधियों के अनुरुप कुकिंग ब्रेड्स और भूने हुये मसालों को साथ व्यंजनों को अंजाम दिया जाता था । बाल्टी व्यंजनों में खुशबू, ताजापन, मसालेदार और स्वादिष्टता की झलक स्पष्ट दिखती है । इसके पकाने की विधि जल्द होती है जिसमें हर सम्भव मसालों को प्रयोग किया जाता है जैसे क्रिस्पी सब्जियाँ, मुलायम गोश्त, मच्छली, मुर्गी और शैल फिश आदि प्रमुख है । बाल्टी बनाने के विधि प्रयोग में इतना कड़ा नहीं है इसलिये आप अपने मनचाहे कम्बीनैशंस ट्राई कर सकते हैं । व्यंजन का मजा आपके द्वारा किये मसालों के जायकों पर निर्भर करता है । व्यंजनों के शौकिनों के लिये इस फेस्टीवल के दौरान बाल्टी चिकन, लैंम्ब एंड लेंटिल टिक्का, कढाई प्रोन्स, बाल्टी बेबी वैजिटेबिल्स, एप्रीकोट पोटेटो आदि का स्वाद चखने को मिलेगा । भोजन के सम्पन्न होने के साथ इस क्षेत्र की लोकप्रिय मिष्ठान का भी आनंद ले सकते हैं जिसे हमारे एक्सपटर््स शैफस ने तैयार किया है ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here