बुधवार को नगर निगम की हॉउस मीटिंग में हुआ जमकर हंगामा

0
551

 

ऑय 1 न्यूज़ रिपोट परोसन बर्मन

नगर निगम की बैठक में पिछली हॉउस मीटिंग के मिनट्स को लेकर मुद्दा गरमाया।पिछली मीटिंग के दौरान कोंग्रेसी पार्षद और पूर्व मेयर सुभाष चावला और नॉमिनेटिड काउंसलर अरुणा गोयल के बीच तीखी नोंक झोंक हुयी थी। मीटिंग एजेंडो के मिनट्स में इसे शामिल न किये जाने को लेकर कॉंग्रेसी पार्षदों ने खूब विरोध किया और इस दौरान उनकी मनोनित पार्षद शगुफ्ता परवीन के साथ खूब बहस भी हुई। नगर निगम में पिछली हॉउस मीटिंग में हुयी घटना को लेकर नॉमिनेटिड काउंसलर शगुफ्ता परवीन ने भी कांग्रेस के ऊपर जोरदार हमला बोला। शगुफ्ता परवीन ने कोंग्रेसी पार्षदों पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा की कोंग्रेसी पार्षदों को जब वोट चाहिए होते है तो वो हमें इस्तेमाल करते है. जब काम हो जाता है तो थ्रो कर देते है। वोट लेने के लिए कोंग्रेसी उनके पैर धोते है। शगुफ्ता परवीन ने आरोप लगाते हुए कहा पार्षदों के व्हाट्सऐप ग्रुप पर कांग्रेसी पार्षद सुभाष चावला ने उन पर की थी निजी टिपण्णी। वहीँ शगुफ्ता परवीन के आरोपो को लेकर कांग्रेसी पार्षदों ने सदन का बहिष्कार करते हुए बाहर धरने पर बैठ गए . कोंग्रेसियो ने भी शगुफ्ता प्रवीण पर जमकर हमला किया। कॉंग्रेसी पार्षदों ने कहा की नॉमिनेटेड बनने के लिए उन्होंने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पवन कुमार बंसल के पैर धोये थे। शगुफ्ता प्रवीण पैर धो धो कर वक्फ बोर्ड की मेंबर बनी है। कांग्रेसी पार्षदों ने कहा की वो अब करेंगे नॉमिटेड काउंसलर्स का पर्दाफाश। वहीँ मेयर अरुण सूद ने कहा की वो घटना नगर निगम के इतिहास की सबसे बड़ी घटनाथी। उसे मिनट्स में डालकर हॉउस की मर्यादा खराब नहीं करना चाहता था. पिछली सभी बैठके कांग्रेस पार्षदों द्वारा किये गए हंगामे की भेंट चढ़ गयी थी। वो अब भी नहीं चाहते की बैठक सही ढंग से चले। इस कारण वो मुद्दों से हटकर हंगामा कर रहे है।

बाइट – अरूण सूद, मेयर, नगर निगम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here