लुधियाना का सिख परिवार अपने पिता का जन्मदिन मनाने के लिए परवाणु जा रहे थे

0
480

वी केयर फॉर यू का दम भरने वाली चंडीगढ़ पुलिस के कर्मियों की कार्यप्रणाली एक बार फिर सवालों के घेरे में है |
आम जनता की सेवा के दावा करने वाली चंडीगढ़ पुलिस शायद मारपीट करके ही खुद को साबित करने का दम भर्ती है यह पहली घटना नहीं है जहा चंडीगढ़ पुलिस के जवानो ने वर्दी को दागदार किया होघटना चंडीगढ़ के सेक्टर 56 की है जब एक लुधियाना का सिख परिवार अपने पिता का जन्मदिन मनाने के लिए परवाणु जा रहे थे तभी चंडीगढ़ ट्रेफिक पुलिस के एस आई अश्वनी, कांस्टेबल सुरेंदर राठी ने वरना कार में सवार इस परिवार को ब्लैक फिल्मिंग के चलते रोका | जिस पर कार सवार तेगवीर और बादशाह ने पुलिस कर्मियों को बताया की यह फिल्मिंग नहीं बलिक कम्पनी के द्वारा लगाई गई जाली है | जिसपर पुलिस कर्मियों ने चलान काट दिया परिवार ने कानून की पालना करते हुए चालान का भुगतान ही मोके पर कर दिया | परिवार का आरोप है कि मोके पर मोजूद पुलिस कर्मियों ने उनके साथ गालिगलोच व् बदसलूकी की जिसका विरोध करने पर पुलिस कर्मी हाथापाई पर उतर आये | जिसमे दोनों सिख युवकों की पगड़ियां सर से उतर गई मोके पर मोजूद अन्य लोगो ने इस विरोध करते हुए पुलिस कर्मियों की जम कर धुनाई करते हुए उनकी वर्दी तक फाड़ डाली साथ पी सी आई को भी तोड़ने का भी प्रयास किया गया |
वही घटना की जानकारी मिलते ही मोहाली चंडीगढ़ एवं इसके आस पास के इलाको की सिख जत्थे बंदिया पीड़ित परिवार की मदद के लिए सेक्टर 39 पुलिस स्टेशन पहुंच गए |

वही इस मामले में चंडीगढ़ पुलिस के एस पी परमिंदर सिंह का कहना है कि इस घटना में पुलिस के द्वारा तीन युवको के खिलाफ मामला दर्ज किया है क्योकि तीनो युवको ने सरकारी प्रॉपर्टी को नुक्सान पहुंचाने एवं ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मियों से हाथापाई करने का कार्य किया है जिसकी वीडियो फुटेज हमारे पास है । बाकी इस घटना में जो पगड़ी उतारने का मामला सामने आया है उसमे युवको के द्वारा पगड़ी पहनी ही नहीं गई थी घटना के वक्त वे टोपी पहने हुए थे \
बाइट …. परमिंदर सिंह एस पी सिटी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here