महागठबंधन को तोड़कर बिहार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के महज कुछ घंटों के भीतर ही पुराने साथी बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बनाई |

ऑय 1 न्यूज़ ब्यूरो रिपोट महागठबंधन को तोड़कर बिहार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के महज कुछ घंटों के भीतर ही पुराने साथी बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बना और मुख्यमंत्री बन जाने के बाद नीतीश कुमार पर सोशल मीडिया पर जमकर मौज ली जा रही है। ट्विटर पर कुछ लोग इसे घर वापसी कह रहे हैं, तो कुछ लोग लिट्टी चोखे का असर। वहीं, कुछ लोग सोनम गुप्ता की जगह नीतीश कुमार को बेवफा बता रहे हैं। आप भी पढ़ें, कुछ दिलचस्प ट्वीट्स….

सीएम नीतीश कुमार के महागठबंधन से अलग होने के बाद बड़ा फैसला सामने आया है। सूत्रों के मुताबिक अब कहा जा रहा है कि नीतीश की जेडीयू के दो सांसद मोदी सरकार में शामिल होंगे। बताया जा रहा है कि पार्टी के प्रवक्ता और महासचिव केसी त्यागी केंद्रीय मंत्री बन सकते हैं। ये फैसला अगस्त में होने वाले मंत्रिमंडल विस्तार में लिया जा सकता है।

बता दें कि जेडीयू के मुखिया नीतीश कुमार ने आरजेडी के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को झटका देते हुए बीजेपी के साथ मिलकर बिहार में नई सरकार बना ली है नीतीश कुमार ने राजभवन पहुंचकर रिकॉर्ड छठी बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। नीतीश कुमार के तुरंत बाद ही सुशील मोदी ने बिहार के उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इस नई सरकार में जेडीयू और बीजेपी के 13-13 मंत्री होंगे, जो नई सरकार द्वारा विश्वासमत हासिल कर लेने के बाद शपथ ग्रहण करेंगे।

वहीं, पीएम नरेंद्र मोदी ने बिहार में बीजेपी-जेडीयू सरकार बनने पर नीतीश-सुशील को बधाई दी है। शपथ ग्रहण के बाद नीतीश कुमार ने कहा कि उन्होंने बिहार के विकास के लिए ये फैसला लिया। नीतीश कुमार बीजेपी के साथ सरकार बनाने के सवाल पर जवाब दे रहे थे।