परवाणू से चम्बाघाट तक फोरलेन कार्य के दृष्टिगत मुआवजा प्रक्रिया

आई 1 न्यूज़ :संदीप कश्यप

सोलन जिले में परवाणू से चम्बाघाट तक राष्ट्रीय राजमार्ग के फोरलेन कार्य के कारण प्रभावित होने वाले 32 गांवों के व्यक्तियों से मुआवजा राशि की प्रक्रिया को 10 दिन के भीतर पूरा करने का आग्रह किया गया है। यह जानकारी आज यहां सक्षम प्राधिकारी एवं भू-अर्जन अधिकारी तथा उपमण्डलाधिकारी सोलन आशुतोष गर्ग ने दी।

उन्होंने कहा कि फोरलेन कार्य के कारण ग्राम बनोग, दत्यार, कोटी, नाहोन, डीव, गाही, कुम्हारडा, मंगोटी, सनवारा, मान्डो मटकन्डा, धर्मपुर बठोल, धार की बेह, सिहारडी चमारा, सिहारडी मुस्लमाना, दाबली, पट्टा, खील जाशंली, हिम्मतपुर दाबली, बधोनी, खाली, बाड़ा, रूनन घोड़ों, दघोटा, ढिल्लों, बड़ोग, शमलेच, आंजी, रबौन, सपरून, कथेड़ सोलन, बसाल पट्टी कथेड़ और थडे का ठाकुरद्वारा के प्रभावितों को नियमानुसार मुआवजा राशि दी जानी है।

आशुतोष गर्ग ने कहा कि मुआवजा राशि प्रक्रिया की जानकारी के लिए ग्रामीणों को अपने नाम का शपथ पत्र सक्षम प्राधिकारी एवं भू-अर्जन अधिकारी सोलन के कार्यालय में स्वयं उपस्थित होकर दस्तावेजों सहित प्रस्तुत करना होगा। उन्होंने कहा कि शपथ पत्र में गांव का नाम, खसरा नम्बर, रकबा व किसी न्यायालय से संबंधित मुकद्मा या स्थगन आदेश की लिखित जानकारी होनी चाहिए। शपथ पत्र के साथ नवीन नकल जमाबंदी, बैंक खाता (पासबुक की छायाप्रति तथा आधार नम्बर/ मतदाता पहचान पत्र व मोबाईल नम्बर) तथा पासपोर्ट साईज की फोटो होनी चाहिए।

भू-अर्जन अधिकारी ने कहा कि जिन प्रभावित व्यक्तियों द्वारा उपरोक्त दस्तावेज उनके कार्यालय में जमा करवा दिए गए हैं, वे भी प्रभावित भूमि के बारे में किसी न्यायालय से संबंधित मुकद्मा अथवा स्थगन आदेश की जानकारी भी इस कार्यालय को प्रदान करें ताकि भू-अर्जन राशि सही व्यक्ति को वितरित की जा सके।

उन्होंने कहा कि यदि प्रभावित व्यक्ति इस समाचार के प्रकाशन के 10 दिन के भीतर उपरोक्त दस्तावेज उनके कार्यालय में जमा नहीं करवाते तो यह राशि सरकारी कोष में जमा करवा दी जाएगी और भूमि का कब्जा नियमानुसार ले लिया जाएगा।